Life

महिलाओं और लड़कियों के खिलाफ हिंसा के चौंकाने वाले तथ्य

फीमेल जेनाइटल म्यूटिलेशन से लेकर , बाल विवाह , मानव तस्करी , घरेलू हिंसा और आत्महत्या तक , महिलाओं और लड़कियों का संघर्ष जारी रहता है । आइए अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर महिलाओं के खिलाफ विश्व स्तर पर हिंसा के बारे में कुछ चौंकाने वाले आंकड़ों पर एक नजर डालें ।

• दुनिया भर में 3 में से 1 महिला ने अपने जीवनकाल में शारीरिक या यौन हिंसा का अनुभव किया है ।

• यह अनुमान है कि करीब 10 मिलियन बच्चे बाल यौन शोषण के शिकार हैं ।

• भारत में सार्वजनिक स्थानों पर 78.4 प्रतिशत महिलाओं को शारीरिक , मानसिक , मौखिक हिंसा और यौन शोषण का सामना करना पड़ता है ।

• हर साल करीब 15 मिलियन लड़कियों की शादी 18 साल की उम्र से पहले कर दी जाती है । इस आंकड़े का और विश्लेषण करें तो ये प्रति मिनट 28 लड़कियां है ।

• ग्लोबली 38 % महिलाओं की हत्या पुरुष साथी द्वारा की जाती है ।

• 200 मिलियन महिलाओं और लड़कियों ने फीमेल जेनाइटल म्यूटिलेशन / कटिंग ( FGM / C ) का अनुभव किया है ।

दुनिया भर में हर साल 150 मिलियन लड़कियों के साथ बलात्कार या यौन हिंसा के अधीन होते हैं , आमतौर पर उनके परिवार के किसी व्यक्ति द्वारा ।

4 में से 1 महिला गर्भावस्था के दौरान शारीरिक या यौन हिंसा का सामना करती हैं ।

• इस वक्त दुनिया में 700 मिलियन ऐसी महिलाएं मौजूद हैं , जिनकी शादी बचपन ( 18 वर्ष से कम ) में हुई थी ।

• डॉमेस्टिक वायलेंस एक वैश्विक समस्या है जो दुनिया भर में 35 % महिलाओं को प्रभावित करती है ।

विश्व स्तर पर हर दिन लगभग 137 महिलाओं को उनके साथी या परिवार के किसी सदस्य द्वारा मार दिया जाता है ।

• महिलाओं के लिए 15 से 44 साल की उम्र में कैंसर , कार दुर्घटना , मलेरिया या युद्ध में घायल होने की बजाय बलात्कार और घरेलू हिंसा का खतरा अधिक होता है ।

• स्कूल से संबंधित जेंडर बेस्ड वायलेंस : 4 में से 1 लड़की का कहना है कि वे स्कूल शौचालय का उपयोग करके कभी भी सहज महसूस नहीं करती हैं ।

• स्कूल से संबंधित जेंडर बेस्ड वायलेंस में स्कूलों और उसके आसपास होने वाली यौन , शारीरिक या मनोवैज्ञानिक हिंसा के खतरे शामिल हैं ।

• 81 फीसदी महिलाओं ने अपने जीवनकाल में कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न का अनुभव किया है । इनमें से लगभग तीन – चौथाई को उनके संगठन में किसी वरिठ द्वारा परेशान किया गया था ।

• यौन उत्पीडन के मामलों में 12 फीसदी दैनिक या साप्ताहिक आधार पर होते हैं ।

दुनिया भर में हर साल हॉनर किलिंग के नाम पर 5,000 महिलाओं की हत्याएं रिकॉर्ड होती हैं । विशेषज्ञों के अनुसार हॉनर किलिंग की वास्तविक संरख्या इससे कहीं अधिक है ।

दुनिया की आबादी से 80 से 100 मिलियन लड़कियां मिसिंग हैं , जो लिंग आधारित शिशुहत्या , नारीहत्या , कुपोषण या उपेक्षा की शिकार हो सकती हैं ।

महिलाओं के खिलाफ हिंसा बंद करें

Related posts

PM किसान सम्मान निधि के लिए रजिस्ट्रेशन कैसे करें

admin

RTI एक्ट क्या है और इसका आवेदन कैसे करते हैं ?

admin

भारत के सबसे शानदार सड़क पुल

admin

Leave a Comment

You cannot copy content of this page